ब्लॉग छत्तीसगढ़

14 April, 2007

छत्तीसगढ के नगाडे की धूम : संपूर्ण विश्व में


गिनीज बुक आफ वल्ड रिकार्ड में अपना नाम दर्ज कराने छत्तीसगढ के लोक कलाकार स्पात नगरी के रिखी क्षत्रीय ने सौ घंटे अनवरत नगाडा बजाने का छत्तीसगढिया जजबा को फलीभूत करने के लिये स्थानीय कला मंदिर में शुक्रवार, १३ अप्रैल की सुबह ९.२५ को छत्तीसगढी लोकगीतों के साथ गायन व वादन का रिकार्ड तोडू सफर का आरंभ किया ।
(आलोक प्रकाश पुतुल का लेख पढें बी बी सी हिंदी में)


नगाडा दुनिया का सबसे पुराना वाद्य यंत्र है, इसका रुप और इसके बजाने की शैली अलग अलग देशों मे अलग अलग प्रकार से है रिखी ने छत्तीसगढ के इस पारम्परिक वाद्य यंत्र की घटती लोकप्रियता को बढाने एवम छत्तीसगढ की संस्कति, अस्मिता व स्वाभाविकता, सरलता को विश्व में प्रस्तुत करने के उद्देश्य से यह बीडा उठाया है ।

गिनीज बुक में ८४ घंटे तक लगातार ड्रम बजाने का रिकार्ड फिलहाल स्विटजरलैंड के अरूलानाथन सुरेश के नाम दर्ज है जिन्होंने यह शराहनीय कार्य वर्ष २००४ में किया था ।

भाई रिखी क्षत्रीय छत्तीसगढ के लोक कलाकार हैं इन्होंने छत्तीसगढ के पारंपरिक लोक वाद्य यंत्रों का अनोखा संग्रह किया है जिसकी प्रदर्शनी समय समय पर देश व विदेश में भिलाई स्पात संयंत्र के सहयोग से लगायी जाती रही है ।

आज इनका प्रयास प्रत्यक्ष देखने के बाद मेरा छत्तीसगढिया मानस गदगद हो गया, आप भी इन्हें आर्शिवाद प्रदान करें कि रिखी क्षत्रीय एवं उनकी टीम विश्व रिकार्ड कायम करें ।

आपसे अधिकाधिक संख्या में टिप्पणी की आवश्यकता लिम्का विश्व रिकार्ड में रिकार्ड के लिये चहिये तो देरी मत कीजिये रिखी को इंतजर है आपके आशीश की आप किसी भी भासा में अपना कमेंट हमें भेज सकते है ।


रिखी को शुभकामनाओं सहित ।

संजीव तिवारी

3 comments:

  1. sanjeev tiwari je aapaka blog dekha. main ise lagaatar padhta rhoonga.
    aapka deepak raj
    http://rajlekh.wordpres.com
    http//rajdpk.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. तिवारी जी, भिलाई की वेबसाईट http://bhilai.co.in पर भी कुछ टिप्पणी मिल सकती है?

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

Popular Posts