ब्लॉग छत्तीसगढ़

30 November, 2007

शिवरीनारायण देवालय एवं परम्‍पराएं : प्रो. अश्विनी केशरवानी की संपूर्ण ग्रंथ



लेखक : प्रो. अश्विनी केशरवानी



प्रथम संस्‍करण : फरवरी 2007

मूल्‍य : 120 रूपये

प्रिंट प्रकाशक : बिलासा प्रकाशन, बिलासपुर


वेब ब्‍लाग प्रकाशन : संजीव तिवारी

अनुक्रमणिका

भूमिका

शिवरीनारायण : एक नजर

अ. देवालय
१. गुप्तधाम
शबरीनारायण और सहयोगी देवालय
अन्नपूर्णा मंदिर
महेश्‍वरनाथ
शबरी मंदिर
जनकपुर के हनुमान
खरौद के लखनेश्‍वर

ब. परम्पराएं

१. मोक्षदायी चित्रोत्पलागंगा
२. महानदी में अस्थि विसर्जन
३. महानदी के घाट
४. महानदी के हीरे
५. शिवरीनारायण की कहानी और उसी की जुबानी
६. मठ और महंत परंपरा
७. गादी चौरा पूजा
८. रोहिणी कुंड
९. मेला
१०. रथयात्रा
११. नाट्य परंपरा
१२. तांत्रिक परंपरा
१३. साहित्यिक तीर्थ
१४. शिवरीनारायण के भोगहा
१५. गुरू घासी बाबा
१६. रमरमिहा
१७. माखन वंशनुक्रम

5 comments:

  1. अरे जियो संजीव - क्या मेहनत का काम किया है! मान गये! अब पढ़ेंगे समय निकाल-निकाल कर।
    बधाई।

    ReplyDelete
  2. ज्ञान भईया, आपलोगों के इसी आर्शिवाद से मेरा उत्‍साह बढता है एवं श्रम सार्थक हो जाता है । धन्‍यवाद ।

    संजीव तिवारी

    ReplyDelete
  3. संजीव, भैया बहुत मेहनत का काम किए हो...आज भूमिका पढ़कर जा रहा हूँ, लेकिन वापस आकर सब कुछ पढूंगा...

    धन्यवाद भाई,

    ReplyDelete
  4. जबरदस्त!!!!

    वाकई एक मेहनत का काम किया है भैय्या आपने!!

    समय निकाल निकाल कर पढ़ना होगा इन्हें तो!!

    ReplyDelete
  5. निश्चित ही आपने बहुत बडा कार्य कर दिया है। कही पर कापीराइट सूचना भी डाले अन्यथा चुराने वाले की नजर से इस अमूल्य कृति को बचा पाना मुश्किल होगा।

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

loading...

Popular Posts