ब्लॉग छत्तीसगढ़

13 October, 2008

गणतंत्र और कानून साथ में टैंडर

गणतंत्र और कानून पर कल रवीवार को रायपुर के प्रेस क्‍लब में छत्‍तीसगढ के पुलिस प्रमुख श्री विश्‍वरंजन जी नें अपना प्रभावी वक्‍तव्‍य दिया जिसे हम आज विभिन्‍न समाचार पत्रों के माध्‍यम से एवं आवारा बंजारा जी के पोस्‍ट से पढ पाये । भविष्‍य में हम आशा करते हैं कि उक्‍त कार्यक्रम में उपस्थित ब्‍लागर्स भाईयों के प्रयास से संपूर्ण वक्‍तव्‍य  पढने को मिल पायेगा । 

आज के समाचार पत्रों में इस खबर के साथ ही पुलिस विभाग का यह टैंडर भी प्रकाशित हुआ है जिसे पढने के बाद हमें लगा कि कम से कम इसे तो हमारे ब्‍लागर्स भाईयों के बीच पहुचाया जाए । तो भाईयों मत चूको चौहान .........

5 comments:

  1. ह्म्म, यह तो ये नोटिस पढ़कर ही समझ में आ गया कि टेंडर किसे मिलने जा रहा है। चलिए देखते हैं कि क्या होता है।

    ReplyDelete
  2. हम भी संजीत भाई के साथ ही है!!

    ReplyDelete
  3. 'hmm to tender kaun le jayega....?aage aage dekho hotta hai kya???"
    Regards

    ReplyDelete
  4. हमारे सहोदरों पर इतना "विशवास" ठीक नहीं ....टेंडर ओपन ही मान कर चले भाई. संजीव भाई का साहस तो देखे, विज्ञप्ति को और प्रचार दे रहें हैं.

    ReplyDelete
  5. द्विभाषी सॉफ्टवेयर आने पर टेण्डर विज्ञापन हिन्दी में बनने लगेंगे।

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

Popular Posts

13 October, 2008

गणतंत्र और कानून साथ में टैंडर

गणतंत्र और कानून पर कल रवीवार को रायपुर के प्रेस क्‍लब में छत्‍तीसगढ के पुलिस प्रमुख श्री विश्‍वरंजन जी नें अपना प्रभावी वक्‍तव्‍य दिया जिसे हम आज विभिन्‍न समाचार पत्रों के माध्‍यम से एवं आवारा बंजारा जी के पोस्‍ट से पढ पाये । भविष्‍य में हम आशा करते हैं कि उक्‍त कार्यक्रम में उपस्थित ब्‍लागर्स भाईयों के प्रयास से संपूर्ण वक्‍तव्‍य  पढने को मिल पायेगा । 

आज के समाचार पत्रों में इस खबर के साथ ही पुलिस विभाग का यह टैंडर भी प्रकाशित हुआ है जिसे पढने के बाद हमें लगा कि कम से कम इसे तो हमारे ब्‍लागर्स भाईयों के बीच पहुचाया जाए । तो भाईयों मत चूको चौहान .........
Disqus Comments