ब्लॉग छत्तीसगढ़

04 August, 2010

ब्‍लॉग से दूर रहने में कोई आनंद नहीं है प्‍यारे

मित्रों,  पिछले सप्‍ताह कुछ दिनों के लिए ब्‍लॉग सक्रियता से अवकाश लेकर हम अपने काशी काबा  में धूनी रमाये बैठे रहे। इस धूनी यज्ञ में हम इस कदर व्‍यस्‍त रहे कि मित्र अजय झा एवं राजीव तनेजा जी के स्‍नेह निमंत्रण व , अनुज मिथिलेश व नीशू के मेरठ से दिल्‍ली आकर मिलने के अधिकार का भी हम मान नहीं रख सके। हम प्रतीक्षारत हैं कि धूनी की राख कुछ शांत हो और हम वापस ब्‍लॉग पर आयें और हमारी अगली यात्रा भी शीध्र हो ......

19 comments:

  1. शिकायत दर्ज की जाए।

    ReplyDelete
  2. Bahir ma kabar khade has ga.
    chay pe bulaya hai, ta ja na ga.

    johar le.:)

    ReplyDelete
  3. पूरी हो आपकी मुरादें , शुभ कामनाएँ । -आशुतोष

    ReplyDelete
  4. इस बार नहीं तो अगली बार सही...उम्मीद पे दुनिया कायम रख छोड़ी है मैंने कि आपसे मुलाक़ात ज़रूर हो के रहेगी

    ReplyDelete
  5. होता है होता है, अक्सर ऐसा होता है

    ReplyDelete
  6. आपकी प्रतीक्षा है.

    ReplyDelete
  7. काबा काशी के चक्कर में लोग अपनों को भूल क्यों जाते है ?

    ReplyDelete
  8. sehmat hu,

    pichhle kuchh din mai bhi blogjagat se door Kolkata me tha. na blog dekhe na email.

    , ham to laut aaye, aap bhi jald laut aaiye

    ReplyDelete
  9. आपकी प्रतीक्षा है.

    ReplyDelete
  10. दूर रहने का कोई लाभ नहीं।

    ReplyDelete
  11. "खुदा के वास्ते पर्दा न काबे से उठा ज़ालिम,
    कहीं ऐसा न हो यां भी वही काफिर सनम निकले.
    हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी..."

    ReplyDelete
  12. @ मिथिलेश भाई शिकायत दर्ज कर ली है.

    @ ललित भाई अभी बाहिरे ले झांके ला परत हे काली भितरी जाहूं :)

    @ राजीव जी आशावाद के लिए आभार.

    @ अली भईया, अभी काशी काबा में ब्रम्‍हआनंद नहीं मिल पाया है, अपनो का याद दिल में है.:)

    @ आशुतोष भाई, शास्‍त्री जी, राहुल भईया, संजीत, अरविन्‍द जी, जाकिर भाई, प्रवीण जी व हबीब भाई बहुत बहुत धन्‍यवाद.

    ReplyDelete
  13. @ पाबला जी .......... धन्‍यवाद.

    ReplyDelete
  14. शुभकामाएँ..स्थिति शीघ्र नियंत्रण में आये. :)

    ReplyDelete
  15. लो निकल भी लिए ..हम समझ ही गए थे ..चलिए
    अगली बर सही ......

    ReplyDelete
  16. ... कभी कभी हो जाता है !!!

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

loading...

Popular Posts