ब्लॉग छत्तीसगढ़

07 October, 2011

अंग्रेजी उपन्‍यास ब्रेब मनटोरा (Brave Mantora) का हिन्‍दी अनुवाद

हमारे पाठकों को याद होगा कि वर्ष 2008 में छत्‍तीसगढ़ के प्रसिद्ध वनस्‍पति विज्ञानी डॉ.पंकज अवधिया जी के आलेखों को हम नियमित रूप से अपने इस ब्‍लॉग में प्रकाशित कर रहे थे। पंकज जी 'आस्‍था परम्‍परा विश्‍वास और अंधविश्‍वास' पर प्रत्‍येक सप्‍ताह एक आलेख आरंभ में प्रस्‍तुत करते थे, 'आस्‍था परम्‍परा विश्‍वास और अंधविश्‍वास' की 19 कडिंया आप इस ब्‍लॉग में देख सकते हैं। 

पंकज जी वनस्‍पति विज्ञानी है और पारम्परिक चिकित्सकीय ज्ञान के खोज में देशभर में एवं छत्‍तीसगढ़ के वन ग्रामों में लगातार शोध यात्राएं करते रहते है और वहां से प्राप्‍त ज्ञान को इंटरनेट में दस्‍तावेजीकरण करने के लिए अपलोड भी करते रहते हैं। मधुमेह पर वैज्ञानिक रिपोर्ट लिखने के संबंध में पंकज जी का एक साक्षात्‍कार हिन्‍दी वेबसाईट पर यहां उपलब्‍ध है। वर्तमान में पंकज जी मधुमेह से संबंधित रपट अपने साईट में अपलोड कर रहे है वे पारंम्‍परिक चिकित्‍सा के संबंध में अपने वेबसाईट में १५ जीबी की सामग्री डाल चुके हैं, और अब एक दूसरी वेबसाईट में डायबीटीज की रपट अपलोड कर रहे हैं। इस साईट में अभी तक ३६ लाख से अधिक पन्ने अपलोड हो चुके हैं  यह हम सब के लिए गौरव की बात है कि पंकज जी के गहन शोध से प्राप्‍त यह सामाग्री और ज्ञान हमारे छत्तीसगढ़ का है। 

पंकज जी, शोध आलेखों के साथ ही उपन्‍यास भी लिखते हैं यह हमें विगत दिनो ज्ञात हुआ जब इनके अप्रकाशित अंग्रेजी उपन्‍यास ब्रेब मनटोरा (Brave Mantora) का हिन्‍दी अनुवाद इतवारी अखबार में क्रमश: प्रकाशित हुआ है। हमारे अनुरोध पर पंकज जी नें इस उपन्‍यास के कुछ अंशों को आरंभ में प्रकाशित करने की सहमति दी है। आगामी पोस्‍टों में हम पंकज अवधिया जी के इस उपन्‍यास का हिन्‍दी अनुवाद क्रमश: प्रस्‍तुत करेंगें।

6 comments:

  1. हार्दिक स्‍वागत.

    ReplyDelete
  2. सुस्वागतम !

    ReplyDelete
  3. अच्‍छी पहल।

    आभार...

    स्‍वागत.....

    ReplyDelete
  4. उत्‍सकुता से इंतजार रहेगा इस उपन्‍यास को पढ़ने का। देखना है कि एक वनस्‍पति विज्ञानी का साहित्‍य लेखन कैसा है।

    ReplyDelete
  5. बढ़िया लेख इसे भी देखे :-

    http://hindi4tech.blogspot.com/

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

Popular Posts

07 October, 2011

अंग्रेजी उपन्‍यास ब्रेब मनटोरा (Brave Mantora) का हिन्‍दी अनुवाद

हमारे पाठकों को याद होगा कि वर्ष 2008 में छत्‍तीसगढ़ के प्रसिद्ध वनस्‍पति विज्ञानी डॉ.पंकज अवधिया जी के आलेखों को हम नियमित रूप से अपने इस ब्‍लॉग में प्रकाशित कर रहे थे। पंकज जी 'आस्‍था परम्‍परा विश्‍वास और अंधविश्‍वास' पर प्रत्‍येक सप्‍ताह एक आलेख आरंभ में प्रस्‍तुत करते थे, 'आस्‍था परम्‍परा विश्‍वास और अंधविश्‍वास' की 19 कडिंया आप इस ब्‍लॉग में देख सकते हैं। 

पंकज जी वनस्‍पति विज्ञानी है और पारम्परिक चिकित्सकीय ज्ञान के खोज में देशभर में एवं छत्‍तीसगढ़ के वन ग्रामों में लगातार शोध यात्राएं करते रहते है और वहां से प्राप्‍त ज्ञान को इंटरनेट में दस्‍तावेजीकरण करने के लिए अपलोड भी करते रहते हैं। मधुमेह पर वैज्ञानिक रिपोर्ट लिखने के संबंध में पंकज जी का एक साक्षात्‍कार हिन्‍दी वेबसाईट पर यहां उपलब्‍ध है। वर्तमान में पंकज जी मधुमेह से संबंधित रपट अपने साईट में अपलोड कर रहे है वे पारंम्‍परिक चिकित्‍सा के संबंध में अपने वेबसाईट में १५ जीबी की सामग्री डाल चुके हैं, और अब एक दूसरी वेबसाईट में डायबीटीज की रपट अपलोड कर रहे हैं। इस साईट में अभी तक ३६ लाख से अधिक पन्ने अपलोड हो चुके हैं  यह हम सब के लिए गौरव की बात है कि पंकज जी के गहन शोध से प्राप्‍त यह सामाग्री और ज्ञान हमारे छत्तीसगढ़ का है। 

पंकज जी, शोध आलेखों के साथ ही उपन्‍यास भी लिखते हैं यह हमें विगत दिनो ज्ञात हुआ जब इनके अप्रकाशित अंग्रेजी उपन्‍यास ब्रेब मनटोरा (Brave Mantora) का हिन्‍दी अनुवाद इतवारी अखबार में क्रमश: प्रकाशित हुआ है। हमारे अनुरोध पर पंकज जी नें इस उपन्‍यास के कुछ अंशों को आरंभ में प्रकाशित करने की सहमति दी है। आगामी पोस्‍टों में हम पंकज अवधिया जी के इस उपन्‍यास का हिन्‍दी अनुवाद क्रमश: प्रस्‍तुत करेंगें।
Disqus Comments